Traffic Rules: चालान कटने का दौर लौट सकता है वापिस, 17 लाख वाहनों के लिए बुरी खबर

Traffic Rules: प्रशासन द्वारा गाड़ी, मोटरसाइकिल, स्कूटर या अन्य वाहनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। तो अगर आप भी वाहन चालक हैं तो इस खबर को जरूर पढ़ें। असल में दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को लेकर सरकार ने सख्ती अपनाने का फैसला लिया है। प्रदूषण कम करने के लिए राज्य सरकार ने बिना वैध प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र (पीयूसी) वाले वाहन मालिकों को नोटिस भेजना शुरू कर दिया है और उन्हें या तो वैध प्रमाणपत्र प्राप्त करने या फिर जुर्माना भरने के लिए तैयार रहने को कहा है।

17 लाख वाहन हैं बिना पीयूसी के

प्रशासन अधिकारियों के मुताबिक मौजूदा समय में दिल्ली में 13 लाख दोपहिया वाहन और तीन लाख कारों सहित कुल 17 लाख से अधिक वाहन बिना वैध पीयूसी के सड़कों पर दौड़ रहे हैं।

लगेगा भारी जुर्माना

पियूसी मामले एक अधिकारी ने बताया, ”हमने लगभग 14 लाख वाहन मालिकों को वैध पीयूसी प्राप्त करने के लिए एसएमएस भेजकर कहा है कि यदि वे इसे समय पर नहीं प्राप्त करते हैं, तो उन्हें भारी जुर्माने का सामना करना पड़ेगा। दो-तीन महीनों के भीतर प्रदूषण का मौसम आ रहा है और हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम कुछ हद तक वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करें। वैध पीयूसी प्राप्त करने के लिए लोगों को चेतावनी देना उस दिशा में उठाया गया एक कदम है।”

हो सकती है छह महीने की सजा या 10,000 रुपये तक का जुर्माना

इस पूरे मामले में अधिकारियों ने बताया वैध पीयूसी प्रमाण पत्र के बिना वाहन मालिकों को अगर पकड़ा गया तो मोटर वाहन अधिनियम के तहत छह महीने तक की कैद या 10,000 रुपये तक का जुर्माना या फिर दोनों ही हालातों का सामना करना होगा।

इन्हे नहीं होगी कोई दिक्कत

अधिकारियों द्वारा बताया गया कि उन वाहनों को छूट मिलेगी जो सड़कों पर नहीं चल रहे हैं। उन्होंने कहा ”उदाहरण के लिए सेना के एक सेवानिवृत्त कर्नल ने परिवहन विभाग को लिखा है कि उनका बेटा विदेश में है और उनका वाहन उनके गैरेज में खड़ा है। तो निश्चित रूप से जो वाहन सड़कों पर नहीं चल रहे हैं, उन्हें पीयूसी प्राप्त करने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन बिना वैध पीयूसी के सड़कों पर चलते पाए जाने वाले वाहनों पर कार्रवाई की जाएगी।”

Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy