SBI Loan: अब SBI से लोन लेना पड़ेगा भारी, बैंक द्वारा बढ़ाया गया MCLR का रेट

SBI Loan: भारत के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक SBI (State Bank Of India) ने अपने ग्राहकों को झटका दे दिया है। सामने आई जानकारी के मुताबिक 15 जुलाई से SBI द्वारा मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (Marginal Cost Of Lending Rate) में बढ़ोतरी कर दी है। जिसका असर बैंक से लोन लेते समय आपके पॉकेट पर पड़ेगा। यानी इस रेट में बढ़ोतरी से बैंक से लोन लेना महंगा हो गया है। बैंक की आधिकारिक वेबसाइट में किए गए अपडेट के अनुसार बैंक ने एमसीएलआर (Marginal Cost Of Lending Rate) में 10 बेस पॉइंट तक की बढ़ोतरी की है।

ये नोटिस बैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी किया गया जिसमें बताया गया है कि एक साल की अवधि वाले लोन के लिए MCLR को 7.40% से बढ़ाकर 7.50 प्रतिशत कर दिया गया है। तो वहीं 6 महीने की अवधि वाले लोन के लिए MCLR 7.35% से बढ़कर 7.45% हो गई है।

क्या है MCLR?क्या है इसका रोल

MCLR यानी मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (Marginal Cost Of Lending Rate) को लोन लेने के लिए आधार रेट माना जाता है। यही कारण है कि एमसीएलआर (Marginal Cost Of Lending Rate) में इजाफे का सीधा असर लोन लेने पर पड़ेगा। असल में इसे नोटबंदी के बाद देश में लागू किया गया था। इस रेट की शुरुवात को देश के केंद्रीय बैंक यानि आरबीआई (Reserve Bank Of India) dwara साल 2016 में की गई थी। बता दें कमर्शियल बैंक इस रेट से ज्यादा रेट पर ग्राहकों को लोन देते हैं।

Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copy