शाकाहारी खाने को लेकर Indian Railway का बड़ा फैसला, खाने की Menu में किए ये बड़े परिवर्तन

Indian Railway Menu: अगर आप शुद्ध शाकाहारी हैं और आपको बाहर के खाने को लेकर ख़ास के ट्रेन के खाने को लेकर झुंझलाहट रहती है तो ये खबर आपके लिए है। यदि आपको घूमना बहुत पसंद है पर आपके मन में मांसाहारी भोजन मिल जाने का डर रहता है तो ये खबर गौर से पढ़ें। इंडियन रेलवे ने बीते दिन खाने को लेकर बड़ा एलान किया है। अब आपको सफर के दौरान रेलवे की ओर से शुद्ध सात्‍व‍िक खाना म‍िलेगा। बता दें इंड‍ियन रेलवे (Indian Railways) की सब्सिडियरी आईआरसीटीसी (IRCTC) ने इस्‍कॉन (ISCKON) के साथ मिलकर ये प्रोग्राम आयोजित किया है। इस करार के बाद सात्‍व‍िक खाना खाने के इच्‍छुक यात्री इस्‍कॉन मंद‍िर के रेस्‍टोरेंट गोव‍िंदा से खाना मंगाकर खा सकेंगे।

इस वजह से शुरू हुआ करार इस्‍कॉन और आईआरसीटीसी की ये सर्विस को पहला चरण में द‍िल्‍ली के हजर‍त न‍िजामुद्दीन स्‍टेशन से शुरू किया जाएगा। यहां इस सर्विस को कैसा रिस्पॉन्स मिल रहा ये देखने के बाद इस सुव‍िधा को देश के दूसरे स्‍टेशनों पर भी शुरू करवाया जा सकेगा। मालूम हो रेलवे के अलग-अलग जोन में इस सुव‍िधा के शुरू होने के बाद सात्‍व‍िक खाना खाने वालों को इसका बहुत लाभ मिलेगा।

पैंट्री द्वारा दिए गए भोजन पर होता है शक ट्रेन के सफर में ऐसा कई बार देखा गया है कि लंबे सफर में पूरी तरह से शाकाहारी भोजन करने वाले यात्रियों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। और तो और जो यात्री प्‍याज और लहसुन भी नहीं खाते, उनकी समस्या और बढ़ जाती है। यात्रि‍यों को लगता है पेंट्री कार से म‍िलने वाले भोजन उतना शुद्ध नहीं होगा और उसकी सात्विकता पर शक रहता है, यही कारण है कई यात्री पैंट्री के खाने से परहेज करते हैं। लेकिन ये करार ऐसे यात्रियों की परेशानी दूर करने के लिए बनाई गई है। सात्‍व‍िक खाना पसंद करने वाले यात्री ट्रेन में गोव‍िंदा रेस्‍टोरेंट से खाना मंगाकर खा सकते हैं।

कैसे उठाएंगे इसका लाभ यदि इस करार का फायदा उठा कर आपको भी सात्विक भोजन मांगना हो तो, आप आईआरसीटीसी (IRCTC) ke ई-कैटर‍िंग वेबसाइट या फूड ऑन ट्रैक एप पर अपना खाना बुक कर पाएंगे। आपको बता दें ट्रेन छूटने के कम से कम दो घंटे पहले यात्र‍ियों को पीएनआर नंबर के साथ ऑर्डर करना होगा। इसके बाद आपका सात्‍व‍िक भोजन आपकी सीट पर पहुंच जाएगा।

Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy