परिवहन का बदलेगा रूट, गाँधी मैदान के जगह यात्रियों को जाना होगा फुलवारीशरीफ

बीते एक महीने से परिवहन काम्प्लेक्स के निर्माण में बहुत फुर्ती आई है। इसके पहले फेज़ का निर्माण सितंबर के अंत तक हो जाएगा। इसी बीच सरकारी बस अड्डे के फुलवारीशरीफ शिफ्ट होने की भी खबर आई है। साथ ही बता दें इस काम्प्लेक्स में बनने वाले भवनों में डीटीओ ऑफिस का नया भवन, बीएसआरटीसी मुख्यालय और उसका बस टर्मिनल शामिल हैं। साथ ही परिवहन कॉम्प्लेक्स में इनके शिफ्ट होने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी और संभावना है की अक्तूबर माह के अंत तक इनके परिवहन कॉम्प्लेक्स में पूरी तरह शिफ्ट कर दिया जाएगा।

बस पकड़ने के लिए जाना होगा फुलवारीशरीफ

परिवहन कॉम्प्लेक्स का निर्माण पूरा हाेने के बाद एक ओर जहाँ बिस्कोमान भवन सेडीटीओ स्थानांतरित हो जायेगा, वहीँ सुल्तान पैलेस से परिवहन कार्यालय का मुख्यालय भी शिफ्ट करदिया जायेगा। इससे सबसे ज्यादा फर्क लोगों को बांकीपुर बस डिपो के शिफ्ट होने पर पड़ेगा। जिसके बाद से बस पकड़ने के लिए लोगों लिए गांधी मैदान सरकारी बस स्टैंड के बजाय परिवहन कॉम्प्लेक्स, फुलवारीशरीफ जाना पड़ेगा।

सेंट्रल वर्कशॉप का निर्माण जारी

आपको बता दें बीएसआरटीसी और परिवहन विभाग के अधिकारियों और कर्मियों के लिए 42 फ्लैटों का निर्माण कराया जा रहा है जोकि सितंबर अंत तक पूरा हो जायेगा। इसके निर्माण से काम करने वाले कर्मियों और अधिकारीयों को रहने की असुविधा नहीं होगी। साथ ही बीएसआरटीसी के सेंट्रल वर्कशॉप का निर्माण भी चल रहा है, लेकिन यह अक्तूबर अंत तक पूरा होने के बाद नवंबर से चालू होने की संभावना है।

इलेक्ट्रिक बसों की चार्जिंग के लिए पॉइंट बनाए गए

फुलवारी डिपो के पुराने वर्कशॉप की जगह इसका निर्माण हो रहा है। इस जगह पर निगम की पुराणी एवं ख़राब बसों के रिपेयर का काम होगा जो डिपो डिवीज़न में नहीं बन पाती। इसके अलावा इस जगह पर इलेट्रिक बसों की चार्जिंग के लिए यहां पांच प्वाइंट भी बनाये गये हैं। इलेक्ट्रिक बसों के साथ ही जगदेव पथ के पास बेली रोड को परिवहन कॉम्प्लेक्स से जोड़ने वाला 18 मीटर लंबी सड़क भी अक्तूबर अंत तक तैयार कर देने की संभावना भी जताई जा रही है।

Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy