बेगूसराय में बरस रहा बज्रा का वज्र, 57 अपराधियों ने कर दिया अब तक कोर्ट में सरेंडर

हाल ही में बेगूसराय में बिहार पुलिस महानिदेशक के डायरेक्शन पर एक विशेष टीम “बज्रा” बनाई गई है।जिसका काम बढ़ रहे अपराध पर अंकुश लगाने रहा है। इस विशेष टीम के बनाए जाने का काफी अच्छा असर बेगूसराय में देखने को मिल रहा है।

वज्र टीम के आने के बाद से सिर्फ मार्च महीने में 26 अपराधियों को जो कि संगीन अपराध के मामलों में नामित थे। उन्हें गिरफ्तार किया गया है। वहीं टीम की मुस्तैदी देखते हुए 57 अपराधियों ने तो खुद ही कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। मार्च महीने में 520 एफ आई आर दर्ज किए गए हैं ।और 543 मामलों का निष्पादन हुआ है। तथा कोर्ट को स्पीडी ट्रायल पर रखते हुए एक आरोपी को आजीवन कारावास और एक को तीन साल की सजा दिलवाई गई है। 461 लोगों को जेल भेजा गया है जिसमें से 25 आरोपी हत्याकांड के आरोपी थे। इसके अलावा 16 हथियार 38 गोली भी जप्त किए गए।

शराब, वाहन हर तरह के मामलों को लेकर काफी सक्रिय है बज्र टीम मद्द्य निषेध से संबंधित मामलों में 142 मामले दर्ज किए गए हैं। 3425 लीटर महुआ शराब को तथा 3863 लीटर विदेशी शराब को एवं 734 लीटर देसी शराब को नष्ट किया गया है। 133 लोग इस तरह के मामलों में गिरफ्तार हुए हैं। और 21 वाहनों को भी जब्त किया गया है। 166 नए मामलों को स्पीड डायल पर रखा गया है जिसमें से दो को सजा हो गई है। और साथ ही साथ 15 अभियुक्तों का नाम जिला की गुंडा पणजी में डाला गया है एवं सभी गुंडो को गुंडा परेड थाना में कराने के लिए आदेशित किया गया है। वाहन संबंधी मामलों में भी सख्ती देखी जा सकती है। तेरह हजार दो पहिया वाहनों की जांच से दो लाख साढ़े नौ हजार का चालान वसूला गया है।

जिले के एसपी योगेंद्र कुमार ने प्रेस वार्ता में स्पष्टतह बताया है कि बेगूसराय में वज्र टीम के सक्रिय होने के बाद से अपराधियों में दहशत का माहौल है। डर से अपराधी खुद ही सरेंडर कर दे रहे थे। ताकि उन्हें अरेस्ट ना किया जाए। कंट्रोल रूम हर वक्त एक्टिव मोड पर है। इसमें कभी भी फोन करके अपराध संबंधी कोई जानकारी दी जा सकती है। ताकि वज्रा टीम अपने काम को काफी सक्रियता से करें और बेगूसराय निवासियों को भयमुक्त जीवन दे सके।

Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copy