देश की एक अजीब सी गरीब जगह, जिसका नाम सुनकर आपको हंसी आ जाएगी

आज हम देश की जगहों यानी शहरों, गांवों और खासकर रेलवे स्टेशनों के नाम बताने जा रहे हैं, जिन्हें देखकर आपकी हंसी छूट जाएगी। भारतीय रेल को देश की जीवन रेखा कहा जाता है। दुनिया के सबसे बड़े रेलवे नेटवर्क में से एक, भारतीय रेलवे की कई दिलचस्प कहानियां और किस्से हैं जो आपको हैरान कर देंगे। आज मैं आपको रेलवे स्टेशनों के नाम के बारे में बताऊंगा, जिसे सुनकर आपके चेहरे पर मुस्कान आ जाएगी।

भैसा रेलवे स्टेशन: इस छोटे से स्टेशन से ज्यादा ट्रेनें नहीं गुजरती हैं। इसका नाम 50,000 की आबादी वाले तेलंगाना के निर्मल जिले के भंसाना शहर के नाम पर रखा गया है। गुर्रा रेलवे स्टेशन: गुर्रा रेलवे स्टेशन भारतीय रेलवे के पश्चिम-मध्य रेलवे के जबलपुर डिवीजन के अंतर्गत आता है। यह स्थान मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले में स्थित है

काला बकरा: यह रेलवे स्टेशन जालंधर गांव में स्थित है और इस स्टेशन को सिर्फ बकरा मत कहो, अगर आप इस जगह या इसके बोर्ड को कहीं भी देखते हैं, तो इसे पूरा सम्मान दें और इसे प्यार से ‘काला बकरा’ कहें।

बीबीनगर रेलवे स्टेशन: दक्षिण-मध्य रेलवे के विजयवाड़ा डिवीजन का यह रेलवे स्टेशन तेलंगाना में मौजूद है। यह स्टेशन तेलंगाना के भुवननगर जिले में स्थित है।आपको बता दें कि इस रेलवे स्टेशन का किसी की पत्नी से कोई लेना-देना नहीं है।

सहेली रेलवे स्टेशन: चलो मित्रा का स्टेशन आ गया। यह रेलवे स्टेशन भोपाल और इटारसी के पास है। जो सेंट्रल रेलवे के नागपुर मंडल में स्थित है।

बीएपी रेलवे स्टेशन: ‘बीएपी’ नाम से आपको लगता है कि यह स्टेशन अन्य सभी स्टेशनों का पिता है, लेकिन ऐसा नहीं है। क्योंकि कई सुपरफास्ट ट्रेनें भी यहां नहीं रुकती हैं। यह स्टेशन जोधपुर, राजस्थान में स्थित है।

भागा रेलवे स्टेशन: यह रेलवे स्टेशन झारखंड में स्थित है, जहां से कई ट्रेनें निकलती हैं, तो नाम से मत सोचो कि यहां पहुंचकर भागना पड़ेगा, हां ट्रेन छूट गई तो भागना पड़ सकता है।

दिवाना रेलवे स्टेशन: यह स्टेशन हरियाणा में पानीपत के पास है। दोनों प्लेटफॉर्म पर रोजाना करीब 16 ट्रेनें रुकती हैं। हो सकता है इस रेलवे स्टेशन पर आकर आप पागल हो जाएं।

पनौटी रेलवे स्टेशन : यहां रहने वाले लोगों को हमेशा ‘पनौती’ टैग से चिढ़ाया जाता था, अगर सभी नहीं तो उनमें से कुछ। पनौती उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले का एक छोटा सा गाँव है

सिंगापुर रेलवे स्टेशन: चिंता न करें, सिंगापुर के इस स्टेशन पर उतरने के लिए आपको किसी वीज़ा या आगमन पर वीज़ा की आवश्यकता नहीं होगी। दरअसल, सिंगापुर का यह रोड स्टेशन भारत के पूर्वी राज्य ओडिशा में है। देश की कई एक्सप्रेस ट्रेनें यहां से गुजरती हैं और देश की कई रेलें इस पर चलती हैं।

साली रेलवे स्टेशन: ऐसा लगता है कि अगर जीजा नाम का कोई और स्टेशन होता तो इस रेलवे बहनोई और भाभी की जोड़ी खूब बनती। ध्यान मत दो। दरअसल, साली नामक यह स्टेशन जोधपुर जिले के दूदू में स्थित है जो उत्तर-पश्चिम रेलवे के अधिकार क्षेत्र में आता है।

भोसरी रेलवे स्टेशन: भोसरी गाँव, जिसे पहले भोजपुर के नाम से जाना जाता था, महाराष्ट्र के पुणे जिले का एक प्रसिद्ध इलाका है। इस रेलवे स्टेशन से कई मार्गों की ट्रेनें भी चलती हैं।

दारू रेलवे स्टेशन: इस फनी रेलवे स्टेशन की बात करें तो आपको बता दें कि दारू दरअसल झारखंड के हजारीबाग जिले का एक गांव है. जहां स्थानीय स्टेशनों का नाम इलाकों के नाम पर रखा जाता है।

लुल्ला नगर, पुणे: अपनी हंसी पर नियंत्रण रखें, अजीब तरह से नामित यह जगह वास्तविक है और पुणे, महाराष्ट्र में स्थित है।

चुटिया: चुटिया असम के एक शहर का नाम है। यह शहर जितना खूबसूरत है, उतना ही इसका नाम भी निराला है। असम की कुछ जनजातियाँ अपना उपनाम चुटिया भी रखती हैं। लेकिन पढ़ने वाले इसे गाली के रूप में देखता है।

भारत में ऐसी और भी कई दिलचस्प जगहें हैं, जिनकी चर्चा फिर कभी।

Copy

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy